Category Archives: فيديو

तीसरा फेज, 11 राज्यों की 93 सीटों पर वोटिंग कल:MP में मामा, महाराजा और राजा की किस्मत दांव पर; महाराष्ट्र में ननद-भौजाई मैदान में

लोकसभा चुनाव के तीसरे फेज में मंगलवार (7 मई) को 10 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 93 सीटों पर वोटिंग होगी। पहले इस फेज में 10 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों की 95 सीटें थीं, लेकिन 21 अप्रैल को सूरत से कांग्रेस प्रत्याशी का पर्चा रद्द होने और Eight कैंडिडेट के नामांकन वापस लेने के बाद भाजपा के मुकेश दलाल निर्विरोध निर्वाचित हो चुके हैं। वहीं जम्मू-कश्मीर में खराब मौसम की वजह से अनंतनाग-राजौरी सीट का चुनाव टाल दिया गया है। अब यहां छठे फेज में 25 मई को वोट डाले जाएंगे। इसके अलावा मध्य प्रदेश की बैतूल सीट से बसपा प्रत्याशी के निधन के बाद सेकेंड फेज (26 अप्रैल) को होने वाली वोटिंग 7 मई को शिफ्ट कर दी गई। मध्य प्रदेश की तीन सीटों- विदिशा से शिवराज सिंह चौहान (मामा), गुना से ज्योतिरादित्य सिंधिया (महाराजा) और राजगढ़ से दिग्विजय सिंह (राजा) की किस्मत दांव पर है। इसके अलावा महाराष्ट्र की अमरावती सीट पर शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले और डिप्टी CM अजित पवार की पत्नी सुनेत्रा पवार यानी ननद-भौजाई के बीच सीधा मुकाबला है। चुनाव आयोग के अनुसार, तीसरे फेज में कुल 1352 कैंडिडेट्स मैदान में हैं। इनमें 1229 पुरुष और 123 (9%) महिला हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (ADR) की रिपोर्ट के अनुसार, 244 कैंडिडेट्स आपराधिक छवि के हैं। 392 कैंडिडेट्स के पास एक करोड़ या उससे ज्यादा की संपत्ति हैं। तीसरे चरण में 7 केंद्रीय मंत्रियों और Four पूर्व मुख्यमंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर… 244 प्रत्याशियों पर आपराधिक केस, 172 पर हत्या, बलात्कार जैसे केस
ADR की रिपोर्ट बताती है, 244 (18%) उम्मीदवारों पर आपराधिक केस हैं। इनमें से 172 (13%) पर हत्या, अपहरण, बलात्कार जैसे गंभीर मामले भी शामिल हैं। 5 उम्मीदवारों पर हत्या और 24 पर हत्या की कोशिश के मामले दर्ज हैं। 38 उम्मीदवारों पर महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले दर्ज हैं। इनमें से दो पर बलात्कार के मामले चल रहे हैं। वहीं, 17 कैंडिडेट्स पर हेट स्पीच से जुड़े मामले दर्ज हैं। तीसरे चरण में 392 उम्मीदवार करोड़पति
ADR के मुताबिक, तीसरे फेज के 1352 उम्मीदवारों में से 392 यानी 29% उम्मीदवार करोड़पति हैं। इनके पास औसतन 5.66 करोड़ रुपए की संपत्ति है। वहीं, पांच उम्मीदवार ऐसे भी हैं, जिन्होंने अपनी संपत्ति शून्य बताई है। महाराष्ट्र की कोल्हापुर सीट से निर्दलीय प्रत्याशी इरफान अबूतालिब चांद की संपत्ति सबसे कम केवल 100 रुपए है। वहीं, गुजरात की बारडोली सीट से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रत्याशी रेखाबेन हरसिंहभाई चौधरी ने अपनी संपत्ति 2000 रुपए घोषित की है। 647 उम्मीदवारों पर कर्जदारी
तीसरे चरण के 647 (48%) प्रत्याशियों पर उधारी चल रही है। मध्य प्रदेश की मुरैना सीट से बसपा प्रत्याशी रमेश गर्ग के ऊपर सबसे ज्यादा देनदारी है। हैरान करने वाली बात यह है कि उनके ऊपर 351.61 करोड़ रुपए की देनदारी है, जबकि उनकी कुल संपत्ति करीब 16.47 करोड़ रुपए की है। सबसे ज्यादा सालाना आय के मामले में महाराष्ट्र की माढा सीट से भाजपा के रंजीतसिंह हिंदूराव नाइक निंबालकर टॉप पर हैं। उनकी कुल वार्षिक आय करीब 44.57 करोड़ रुपए है। इन्होंने व्यापार और कृषि को अपनी आय का स्रोत बताया है। कुल 1352 उम्मीदवारों में से 591 (44%) उम्मीदवार ग्रेजुएट हैं, जबकि 19 उम्मीदवारों ने खुद को निरक्षर बताया है। वहीं, 411 (30%) उम्मीदवारों की आयु 25 से 40 साल और 228 (17%) की आयु 61 से 80 साल के बीच है, जबकि एक प्रत्याशी की आयु 84 साल है। तीसरे चरण की 14 हॉट सीटों पर एक नजर… 1. गांधीनगर, गुजरात भाजपा की ओर से देश के गृह मंत्री अमित शाह यहां से चुनाव लड़ रहे हैं। इस सीट पर 30 सालों से भाजपा का कब्जा है। भाजपा के कई दिग्गज नेता 1989 से यहां से जीत रहे हैं। 2019 के लोकसभा चुनाव में पहली बार अमित शाह ने यहां से चुनाव लड़ा और करीब साढ़े पांच लाख वोटों से जीत हासिल की। वहीं, कांग्रेस ने इस सीट से पार्टी की सचिव सोनल रमणभाई पटेल को मैदान में उतारा है। वे मुंबई और पश्चिमी महाराष्ट्र में पार्टी की सह प्रभारी हैं। साथ ही गुजरात महिला कांग्रेस की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं। वे कह चुकी हैं कि उन्हें भाजपा के वरिष्ठ नेता के खिलाफ चुनाव लड़ने में बिल्कुल भी हिचक नहीं है। 2. पोरबंदर, गुजरात महात्मा गांधी की जन्मस्थली से भाजपा ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया को उम्मीदवार बनाया है। पेशे से वेटरनरी डॉक्टर मंडाविया गुजरात से दो बार के राज्यसभा सांसद हैं। चुनाव प्रचार के लिए केंद्रीय मंत्री ने क्षेत्र में करीब 150 किमी. की पदयात्रा की है। भीड़भाड़ भरे रोड शो से दूरी बनाए रखते हुए उन्होंने प्रचार का यह पुराना तरीका अपनाया है। इस सीट पर पाटीदार समुदाय का खासा प्रभाव है। यही कारण है कि कांग्रेस ने पूर्व विधायक और पाटीदार नेता ललित वसोया को अपना उम्मीदवार बनाया है। पाटीदार आरक्षण आंदोलन में सक्रीय रहे वसोया 2019 में भी कांग्रेस के प्रत्याशी थे, लेकिन भाजपा के रमेशभाई धाडुक से हार गए थे। 3. गुना, मध्य प्रदेश ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बार फिर अपनी पारंपरिक सीट से चुनाव मैदान में हैं। वे 2019 में अपने पूर्व सहयोगी केपी सिंह से चुनाव हार गए थे। हालांकि, तब वे कांग्रेस में थे। हार से सबक लेते हुए सिंधिया ने इस बार मैदान में खूब मेहनत की। उनका बेटा और पत्नी भी उनके साथ चुनाव प्रचार में लगे थे। वहीं, कांग्रेस ने सिंधिया परिवार के राजनीतिक विरोधी राव यादवेंद्र सिंह को मैदान में उतारा है। राव 2023 तक भाजपा में थे। उनके पिता मुंगावली सीट से तीन बार भाजपा के विधायक रहे हैं। उन्होंने माधवराव सिंधिया और ज्योतिरादित्य के खिलाफ भी चुनाव लड़ा था। यादवेंद्र 2023 में कांग्रेस के टिकट पर सिंधिया के करीबी बृजेंद्र सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं। हालांकि, उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। 4. विदिशा, मध्य प्रदेश मध्य प्रदेश में मामा के नाम से मशहूर शिवराज सिंह चौहान करीब 20 साल बाद दोबारा विदिशा से चुनाव लड़ रहे हैं। 2005 में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बनने से पहले वे यहां से पांच बार सांसद चुने जा चुके थे। वे अभी यहां की बुधनी विधानसभा सीट से विधायक हैं। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और सुषमा स्वराज भी यहां से चुनाव जीत चुके हैं। मामा के सामने कांग्रेस ने ‘दादा’ को उतारा है। दरअसल, कांग्रेस प्रत्याशी प्रतापभानु सिंह स्थानीय नेता हैं और दादा के उपनाम से जाने जाते हैं। भानु 1980 और 1984 में दो बार यहां से सांसद रह चुके हैं। वे मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष तथा 1980-84 तक रक्षा मंत्रालय की सलाहकार समिति के सदस्य भी रहे हैं। 5. राजगढ़, मध्य प्रदेश दिग्विजय सिंह करीब 32 साल बाद दोबारा राजगढ़ सीट पर वापसी की है। 1991 में दिग्विजय यहां से सांसद बने थे, लेकिन 1993 में मुख्यमंत्री बनने के बाद इस्तीफा दे दिया था। तब से 2004 तक उनके भाई लक्ष्मण सिंह इस सीट पर कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों से सांसद रहे। 2019 में दिग्विजय सिंह ने भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ा, लेकिन भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा से हार गए। वहीं, दूसरी तरफ भाजपा ने दो बार से सांसद रोडमल नागर को तीसरी बार भी मैदान में उतारा है। पिछले दो चुनावों में आसानी से जीत हासिल करने वाले नागर के लिए इस बार चुनौती कड़ी हैं। उन्हें उम्मीद नहीं थी कि कांग्रेस इतने कद्दावर नेता को उतारेगी। इसी वजह से नागर प्रधानमंत्री मोदी की छवि के सहारे चुनाव लड़ रहे हैं। 6. बारामती, महाराष्ट्र बारामती सीट पर मुकाबला काफी दिलचस्प है। पिछले साल एनसीपी में दो फाड़ होने के बाद यहां इमोशनल मुद्दे पर चुनाव लड़ा जा रहा है। चुनाव में शरद पवार की बेटी और बहू के आमने-सामने होने और परिवार टूटने का मुद्दा बड़ा है। मोदी की गारंटी और राम मंदिर जैसे मुद्दे यहां गायब हैं। एक तरफ सुप्रिया सुले एनसीपी (शरद पवार गुट) से मैदान में हैं तो उनकी भाभी और महाराष्ट्र के डिप्टी CM की पत्नी सुनेत्रा पवार एनसीपी से उन्हें टक्कर दे रही हैं। 1960 में भी ऐसा ही मुकाबला देखने को मिला था, जब शरद पवार अपने बड़े भाई वसंतराव के खिलाफ उतरे थे। तब उनके भाई चुनाव हार गए थे। यह सीट एनसीपी का गढ़ मानी जाती है। शरद पवार यहां से छह बार सांसद रह चुके हैं। अजीत पवार भी यहां से एक बार सांसद रह चुके हैं, जबकि पिछले तीन बार से सुप्रिया यहां से सांसद चुनी जा रही हैं। 7. सातारा, महाराष्ट्र भाजपा इस सीट पर पहली बार कमल खिलने की आस लगाए बैठी है। भाजपा ने आज तक कभी भी यह सीट नहीं जीती, लेकिन पार्टी को छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति उदयनराजे भोसले से उसे पूरी उम्मीद है। भोसले 2004 से 2014 तक तीन बार यहां से सांसद रह चुके हैं। 2019 का चुनाव भी उन्होंने ही जीता था, लेकिन भाजपा जॉइन करने के बाद उन्हें इस सीट से इस्तीफा देना पड़ा। इसी साल हुए उपचुनाव में एनसीपी के श्रीनिवास पाटिल से चुनाव हार गए। वहीं, दूसरी तरफ एनसीपी (शरद पवार गुट) ने ट्रेड यूनियन के नेता रहे और चार बार के विधायक रहे शशिकांत शिंदे को मैदान में उतारा है। शिंदे 2019 का विधानसभा चुनाव हार गए थे और अभी विधान परिषद के सदस्य हैं। सातारा शरद पवार का गृह जिला है और एनसीपी (शरद पवार गुट) की यहां गहरी पैठ है, इसलिए यहां मुकाबला टक्कर का है। 8. रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग, महाराष्ट्र केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री नारायण राणे यहां से भाजपा के उम्मीदवार हैं। राज्यसभा सांसद राणे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। वे सिंधुदुर्ग की कुडाल सीट से छह बार विधायक रहे हैं। शिवसेना से राजनीति शुरू करके राणे मुख्यमंत्री पद तक पहुंचे। लेकिन 2005 में उद्धव ठाकरे से विवाद के बाद कांग्रेस में शामिल हो गए थे। फिर 2017 में कांग्रेस छोड़कर अपनी पार्टी बनाई और 2019 में भाजपा में पार्टी का विलय कर दिया। लंबे राजनीतिक अनुभव वाले राणे के खिलाफ इंडी गठबंधन की ओर से शिवसेना (उद्धव गुट) के विनायक राउत मैदान में हैं। वे पिछले दो लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं। 9. आगरा, उत्तर प्रदेश भाजपा ने आगरा लोकसभा सीट से केंद्रीय मंत्री एसपी सिंह बघेल को मैदान में उतारा है। बघेल ने अपने करियर की शुरुआत बतौर पुलिस सब इंस्पेक्टर की। इसके बाद वे आगरा कॉलेज में मिलिट्री साइंस के एसोसिएट प्रोफेसर भी रहे। अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत उन्होंने समाजवादी पार्टी से की और बसपा से होते हुए 2014 में भाजपा का हिस्सा बन गए। वे चार बार सांसद और योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रह चुके हैं। समाजवादी पार्टी ने सीट के 30% दलित वोटर्स को साधने के लिए सुरेश चंद कर्दम को उतारा है। वे उसी समुदाय से आते हैं, जिससे बसपा सुप्रीमो मायावती आती हैं। यहां हैरानी की बात यह है कि बड़ी संख्या में दलित वोटर होने के बाद भी बसपा का कोई भी उम्मीदवार आज तक यहां से जीत नहीं सका है। 10. मैनपुरी, उत्तर प्रदेश मुलायम सिंह यादव की विरासत लिए उनकी बहू डिंपल यादव मैनपुरी से चुनाव मैदान में हैं। 2019 के चुनाव में मुलायम सिंह यहां से सांसद चुने गए थे। 2022 में उनकी मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में डिंपल सांसद चुनी गईं। इससे पहले वे उत्तर प्रदेश की कन्नौज सीट से दो बार सांसद रह चुकी थीं, लेकिन 2019 लोकसभा चुनाव में भाजपा के सुब्रत पाठक से हार गई थीं। भाजपा ने डिंपल के सामने योगी सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह को उतारा है। जयवीर मैनपुरी सदर से विधायक हैं। वे कुल तीन बार विधायक और दो बार एमएलसी रह चुके हैं। साथ ही 1999 से 2008 तक तीन बार जिला सहकारी बैंक फिरोजाबाद के अध्यक्ष भी रहे हैं। 11. उत्तर गोवा, गोवा केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री श्रीपद येसो नाइक उत्तर गोवा सीट से भाजपा के उम्मीदवार हैं। वे लगातार पांच बार से यह सीट जीतते आ रहे हैं। वे 1988 में भाजपा के राज्य महासचिव बनाए गए और 1990 में उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई। 1994 में विधायक और 1999 में सांसद चुने गए। वे तभी से लगातार सांसद चुने जा रहे हैं। नाइक मोदी मंत्रिमंडल में आयुष मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और रक्षा राज्य मंत्री की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। वहीं, कांग्रेस ने राज्य के उपमुख्यमंत्री रहे रमाकांत खलप को उम्मीदवार बनाया है। वे छह बार विधायक रहे हैं। 1996 में सांसद चुने जाने के बाद केंद्रीय विधि राज्य मंत्री रहे। 12. बेलगाम, कर्नाटक भाजपा ने बेलगाम सीट से कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे जगदीश शेट्टार को उम्मीदवार बनाया है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) से राजनीति शुरू करने वाले शेट्टार संघ से भी जुड़े रहे हैं। हालांकि, पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में टिकट न दिए जाने पर नाराज होकर कांग्रेस में चले गए और चुनाव लड़ा। हारने के बाद दोबारा भाजपा में आ गए। इस सीट पर 2004 से ही भाजपा का कब्जा है। 2020 में मृत्यु तक अंगदी सुरेश चन्नबसप्पा इस सीट से सांसद रहे। इसके बाद हुए उपचुनाव में उनकी पत्नी मंगला सुरेश ने यहां से जीत दर्ज की थी। कांग्रेस ने इस सीट पर मृणाल हेब्बलकर को उतारा है। वे राज्य की महिला एवं बाल विकास मंत्री लक्ष्मी हेब्बलकर के बेटे हैं और पिछले सात-आठ साल से पार्टी में सक्रिय हैं। लक्ष्मी बेलगाम ग्रामीण सीट से विधायक भी हैं। 13. हावेरी, कर्नाटक भाजपा ने हावेरी सीट से लिंगायत नेता बसवराज बोम्मई को मैदान में उतारा है। जनता दल से राजनीति की शुरुआत करने वाले बसवराज 2008 में भाजपा में शामिल हुए थे। उसी साल शिग्गांव सीट से विधायक चुने गए और येदियुरप्पा सरकार में मंत्री रहे। वे बीएस येदियुरप्पा के करीबी हैं और उनके बाद दूसरे बड़े लिंगायत नेता हैं। इसी कारण 2021 में येदियुरप्पा के बाद बोम्मई राज्य के मुख्यमंत्री बने। उनके पिता बीएस बोम्मई भी राज्क् मुख्यमंत्री रह चुके हैं। कांग्रेस ने बोम्मई के सामने आनंदस्वामी गद्दादेवर्मथ को उतारा है। वे राजनीति का बहुत चर्चित चेहरा नहीं हैं। हालांकि, यह उनका पहला चुनाव नहीं है, हालांकि इससे पहले लड़े दोनों चुनाव वे हार गए थे। 14. धारवाड़, कर्नाटक 2008 में परिसीमन के बाद अस्तित्व में आई इस सीट पर भाजपा के प्रल्हाद जोशी लगातार जीतते आ रहे हैं। केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री जोशी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं। उनके पास कोयला मंत्रालय की भी जिम्मेदारी है। वहीं कांग्रेस ने उनके सामने विनोद आसुती को उतारा है। वे पहली बार चुनाव लड़ रहे हैं। लोकसभा चुनाव 7 फेज में हो रहे, नतीजे Four जून को आएंगे देश की 543 सीटों के लिए चुनाव सात फेज में होगा। पहले फेज की वोटिंग 19 अप्रैल को और आखिरी फेज की वोटिंग 1 जून को होगी। Four जून को नतीजे आएंगे। चुनाव आयोग ने लोकसभा के साथ Four राज्यों- आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम के विधानसभा चुनाव की तारीखें भी जारी की हैं। ओडिशा में 13 मई, 20 मई, 25 मई और 1 जून को वोटिंग होगी। पूरी खबर पढ़ें … रिसर्च: कृष्ण गोपाल लोकसभा चुनाव 2024 की ताजा खबरें, रैली, बयान, मुद्दे, इंटरव्यू और डीटेल एनालिसिस के लिए दैनिक भास्कर ऐप डाउनलोड करें। 543 सीटों की डीटेल, प्रत्याशी, वोटिंग और ताजा जानकारी एक क्लिक पर।

मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ:टी-20 वर्ल्डकप में आतंकी हमले की धमकी; केजरीवाल पर खालिस्तानियों से ₹133 करोड़ लेने का आरोप; BSNL 4G सर्विस शुरू करेगी

नमस्कार, कल की बड़ी खबर टी-20 वर्ल्ड कप में आतंकी हमले की धमकी से जुड़ी रही। एक खबर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आतंकी संगठन से 133 करोड़ रुपए की फंडिंग लेने के आरोप से जुड़ी रही। लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर… अब कल की बड़ी खबरें… 1. झारखंड में मंत्री PS के नौकर के घर मिला 30 करोड़ कैश, ED ने 6 ठिकानों पर छापा मारा झारखंड के रांची में मंत्री आलमगीर आलम के निजी सचिव संजीव पाल के नौकर के घर पर ED ने छापेमारी की। इस दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद हुआ। अब तक 25 करोड़ से ज्यादा कैश की गिनती हो चुकी है। ED की ये छापेमारी वीरेंद्र के. राम से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में की गई। वीरेंद्र राम झारखंड ग्रामीण विकास विभाग के पूर्व चीफ इंजीनियर हैं। एजेंसी ने उन्हें पिछले साल फरवरी में गिरफ्तार किया था, तब से वे जेल में हैं। फरवरी 2023 में 150 करोड़ की संपत्ति मिली थी: 15 नवंबर 2019 में जमशेदपुर में JE सुरेश प्रसाद के घर ED ने रेड की थी, जिसमें 2.67 करोड़ कैश मिले थे। तब JE ने बताया था कि ये पैसा वीरेंद्र राम का है। इसके बाद ED ने 22 फरवरी 2023 को वीरेंद्र राम व उनके सहयोगियों से जुड़े ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। इसमें वीरेंद्र राम की 150 करोड़ की चल-अचल संपत्ति की जानकारी मिली। साथ ही डेढ़ करोड़ रुपए के जेवरात और करीब 30 लाख रुपए कैश मिले। पूरी खबर यहां पढ़ें… 2. टी-20 वर्ल्ड कप में आतंकी हमले की धमकी, IS खोरासान ने होस्ट वेस्टइंडीज को वीडियो मैसेज भेजा
पाकिस्तान-अफगानिस्तान में एक्टिव आतंकी संगठन IS खोरासान ने टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान आतंकी हमले की धमकी दी है। त्रिनिदाद और टोबैगो के प्रधानमंत्री कीथ राउली ने बताया कि आतंकी संगठन ने कई देशों को वीडियो मैसेज भेजे हैं, इनमें वेस्टइंडीज भी शामिल है। क्रिकेट वेस्टइंडीज के CEO जॉनी ग्रेव्स ने क्रिक बज से कहा कि हम यह सुनिश्चित करेंगे कि वर्ल्ड कप के दौरान होस्ट देशों और शहरों में लगातार निगरानी हो और हम किसी भी संभावित खतरे से निपटने के लिए तैयार रहें। मैच का शेड्यूल: मैच का शेड्यूल: टी-20 वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज और अमेरिका में 2 जून से 29 जून तक खेला जाएगा। ग्रुप, नॉकऑउट और फाइनल को लेकर कुल 55 मैच खेले जाएंगे। इसमें से 39 मैच वेस्टइंडीज में और 16 अमेरिका में होंगे। सभी नॉकऑउट और फाइनल मैच वेस्टइंडीज में खेले जाएंगे। इंडिया के सभी लीग मैच अमेरिका में होने हैं। इसके बाद अगर टीम सुपर-Eight के लिए क्वालिफाई करती है तो उसे ये मुकाबले वेस्टइंडीज में खेलने होंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें… 3. केजरीवाल पर आतंकी संगठन से ₹133 करोड़ लेने के आरोप, LG बोले- NIA जांच हो दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल के खिलाफ NIA जांच की सिफारिश की है। उन्होंने कहा है कि केजरीवाल ने बैन किए गए आतंकी संगठन ‘सिख फॉर जस्टिस’ से पॉलिटिकल फंडिंग ली है। LG के पास वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन के राष्ट्रीय महासचिव आशू मोंगिया की शिकायत आई थी, जिसमें कहा गया था कि AAP ने 2014 से 2022 के बीच खालिस्तानी आतंकी समूहों से 133 करोड़ रुपए लिए थे, ताकि देवेंद्र पाल भुल्लर की रिहाई कराई जा सके। LG के पास आई शिकायत में क्या है? 1 मई को LG के पास वर्ल्ड हिंदू फेडरेशन इंडिया के राष्ट्रीय महासचिव आशू मोंगिया ने एक शिकायत भेजी थी। साथ ही पेनड्राइव में कुछ वीडियो भेजे थे। इसमें सिख फॉर जस्टिस के फाउंडर गुरपतवंत सिंह पन्नू ने दावा किया था कि AAP ने खालिस्तानी समूहों से 133 करोड़ रुपए की फंडिंग ली। मोंगिया ने शिकायत में यह दावा भी किया कि 2014 में केजरीवाल ने न्यूयॉर्क के गुरुद्वारा रिचमंड हिल में खालिस्तान समर्थक सिखों से मुलाकात की थी। इस मीटिंग में उन्होंने वादा किया था कि अगर फंडिंग मिलती रहेगी तो वे देवेंद्र पाल भुल्लर की रिहाई में मदद करेंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें… 4. राहुल बोले- हम रिजर्वेशन को 50% से आगे बढ़ाएंगे, कोर्ट की लगाई लिमिट हटा देंगे
राहुल गांधी ने मध्यप्रदेश के अलीराजपुर और खरगोन में जनसभा की। उन्होंने कहा कि हम आरक्षण को 50% से आगे ले जाएंगे। कोर्ट ने 50% की लिमिट लगा रखी है, उसे हटा देंगे। उन्होंने आगे कहा कि B‌JP और RSS के लोग संविधान खत्म करना चाहते हैं। इसलिए उन्होंने 400 पार का नारा दिया है, लेकिन 400 सीट तो छोड़िए, इन्हें 150 सीटें भी नहीं मिलेंगी। राहुल बोले-PM संविधान बदलना चाहते हैं: कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संविधान को बदलना चाहते हैं। अगर संविधान खत्म हो गया तो जो अधिकार आपको मिले हैं, वे खत्म हो जाएंगे। ऐसा हुआ तो हिंदुस्तान में 22-25 लोगों का राज हो जाएगा। ये अडाणी और अंबानी जैसे लोग हैं। जो मोदी जी के खास लोग हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें… 5. राजस्थान-छत्तीसगढ़ NEET के गलत पेपर बंटे, लीक का आरोप; बिहार से 9 सॉल्वर अरेस्ट 5 मई को देश के 557 एग्‍जाम सेंटर्स पर NEET UG की परीक्षा हुई। सोशल मीडिया पर कुछ लोग पेपर लीक होने का आरोप लगा रहे हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ( NTA) ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है। राजस्‍थान और छत्तीसगढ़ के एक-एक सेंटर पर हिंदी मीडियम की जगह इंग्लिश मीडियम का पेपर बांट दिया गया। यहां से कुछ छात्र पेपर लेकर भाग गए। तब तक एग्जाम शुरू हो चुका था, इसलिए NTA इसे पेपर लीक नहीं मान रहा। कांग्रेस बोली- स्टूडेंट्स के सपनों के साथ धोखा: कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी ने कहा कि यह छात्र-छात्राओं और उनके परिवारों के सपनों के साथ धोखा है। प्रियंका ने कहा कि देश के 24 लाख युवाओं के भविष्य के साथ फिर से खिलवाड़ हुआ है। पिछले दस साल से करोड़ों होनहार युवाओं के साथ चल रहा यह सिलसिला बंद होने का नाम नहीं ले रहा है। क्या देश के प्रधानमंत्री इस पर कुछ कहेंगे? युवाओं को बहलाने के लिए संसद में पेपर लीक के खिलाफ कानून पास हुआ था। वह कानून कहां है? लागू क्यों नहीं होता? 571 शहरों में हुई NEET UG परीक्षा: NTA ने देशभर के 557 शहरों और विदेश के 14 शहरों में NEET UG परीक्षा आयोजित की। इस साल कुल 23 लाख स्‍टूडेंट्स ने परीक्षा में शामिल होने के लिए रजिस्‍ट्रेशन किया। इनमें से 10 लाख लड़के और 13 लाख से ज्यादा लड़कियां और 24 छात्र थर्ड जेंडर थे। पूरी खबर यहां पढ़ें… 6. जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल को अंतरिम जमानत, मनी लॉन्ड्रिंग केस में सितंबर से जेल में थे बॉम्बे हाईकोर्ट ने जेट एयरवेज के फाउंडर नरेश गोयल को मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 2 महीने की अंतरिम जमानत दी है। वे Eight महीने बाद मुंबई की ऑर्थर रोड जेल से बाहर आएंगे। नरेश को यह जमानत मेडिकल आधार पर मिली है। उनका इलाज रिलायंस अस्पताल में चल रहा है। वे और उनकी पत्नी अनीता गोयल दोनों कैंसर से पीड़ित हैं। नरेश गोयल पर ₹538 करोड़ की धांधली का आरोप: 2 सितंबर 2023 को ED ने उनको गिरफ्तार किया था। दरअसल, नवंबर 2022 को केनरा बैंक ने नरेश गोयल, अनीता गोयल, गौरंग आनंद शेट्टी और अन्य लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी और आपराधिक साजिश का आरोप लगाया था। बैंक ने कहा था कि इस वजह से उसे 538 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है। मामले में CBI ने गोयल और अन्य लोगों पर FIR दर्ज की थी। पूरी खबर यहां पढ़ें… 7. BSNL देशभर में अगस्त से शुरू करेगी 4G सर्विस, स्वदेशी होगी टेक्नोलॉजी
भारत संचार निगम लिमिटेड (BSNL) इसी साल अगस्त से देशभर में 4G सर्विस शुरू करेगी। BSNL की ये सर्विस पूरी तरह से स्वदेशी टेक्नोलॉजी पर बेस्ड होगी। इस टेक्नोलॉजी को IT कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) और टेलिकॉम रिसर्च ऑर्गनाइजेशन सी-डॉट (C-DoT) की पार्टनरशिप वाले कंसोर्टियम ने मिलकर डेवलप किया है। BSNL ने पंजाब में 4G सर्विस शुरू कर दी है और करीब Eight लाख कस्टमर्स को जोड़ लिया है। 1.12 लाख टावर लगाए जा रहे: BSNL पूरे भारत में 4G और 5G सेवाओं के लिए 1.12 लाख टावर लगाने की प्रक्रिया में है। कंपनी ने देशभर में 4G सेवा के लिए 9,000 से अधिक टावर स्थापित किए हैं। इनमें से 6,000 से अधिक टावर पंजाब, हिमाचल प्रदेश, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा सर्किल में हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें… 8. PM बोले- लोगों से लूटा धन उन्हें वापस लौटाएंगे, इसके लिए कानूनी सलाह ले रहा हूं PM मोदी ने आंध्र प्रदेश में कहा कि वे कानूनी सलाह ले रहे हैं कि लोगों से जो धन भ्रष्टाचार के जरिए लूटा गया है, उसे लोगों को कैसे लौटाया जाएगा। इससे पहले पश्चिम बंगाल, आगरा, मेरठ में भी वे इसी तरह की बात कह चुके हैं। 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने कई चुनावी रैलियों में कुछ ऐसा ही कमेंट किया था। उस समय उन्होंने कहा था कि जब विदेशों से काला धन वापस आएगा तो हर भारतीय को बैंक खाते में 15 लाख रुपए मिलेंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें… आज का कार्टून By मंसूर नकवी… कुछ अहम खबरें हेडलाइन में… अब खबर हटके… वेब सीरीज देखकर सिपाही के बेटे ने नकली नोट छापे UP के झांसी में बिजनेस में घाटा होने पर सिपाही का बेटा पंकज मल्होत्रा नकली नोट छाप रहा था। वह इन नोटों को एजेंट्स के माध्यम से MP और UP के मार्केट में खपाता था। नकली नोट छापने का आइडिया उसे शाहिद कपूर की 'फर्जी' वेब सीरीज देखकर आया था। पंकज ने नोट छापने के लिए यूट्यूब पर कई वीडियो देखे और इसकी ट्रेनिंग भी ली। पुलिस ने पंकज और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार कर लिया है। पूरी खबर पढ़ें … एक्सक्लूसिव स्टोरीज, जो सबसे ज्यादा पढ़ी गईं… आपका दिन शुभ हो, पढ़ते रहिए दैनिक भास्कर ऐप… मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ को और बेहतर बनाने के लिए हमें आपका फीडबैक चाहिए। इसके लिए यहां क्लिक करें…

मोदी-ममता का एनिमेटेड डांस वीडियो:PM बोले- खुद को ऐसे देखकर मजा आया; बंगाल पुलिस ने मीम शेयर करने वाले को नोटिस भेजा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ऐनिमेटेड मीम वीडियो सामने आए हैं। इनमें दोनों नेता एक स्टेज पर भीड़ के सामने डांस करते दिखे। सोशल मीडिया पर दोनों नेताओं के वीडियो खूब वायरल हो रहे हैं। हालांकि, बंगाल पुलिस ने वीडियो को लेकर नाराजगी जताई। कोलकाता पुलिस की क्राइम सेल ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर करने वाले यूजर को नोटिस भेजा। पुलिस ने यूजर का नाम और पता पूछते हुए अपना पोस्ट डिलीट करने को कहा। बंगाल पुलिस बोली- नाम-पता नहीं बताया को तो कार्रवाई होगी
दरअसल, एक यूजर ने वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा था- यह प्योर गोल्ड है। जिसने भी इसे बनाया है, उसे ऑस्कर मिलना चाहिए। इस पोस्ट पर कोलकाता पुलिस ने लिखा- आप अपना नाम और पता तुरंत बताइए। अगर आपने जानकारी नहीं दी, तो आप पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हालांकि, मीम पर प्रतिक्रिया को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स ने बंगाल पुलिस की काफी आलोचना की। लोग ममता का वीडियो और शेयर करने लगे, जिसके बाद पुलिस ने अपना पोस्ट डिलीट कर दिया। मोदी बोले- मुझे खुद को डांस करते हुए देखकर मजा आया
दूसरी तरफ, मोदी ने बंगाल पुलिस की कार्रवाई और ममता बनर्जी पर कटाक्ष करते हुए ऐनिमेटेड वीडियो की तारीफ की। उन्होंने X पर अपना वीडियो शेयर किया, जिसके कैप्शन में लिखा था- यह वीडियो इसलिए पोस्ट कर रहा हूं क्योंकि मुझे पता है कि 'द डिक्टेटर' मुझे गिरफ्तार नहीं करावाएंगे। PM ने इसके जवाब में लिखा- आप सभी की तरह मुझे भी खुद को डांस करते हुए देखकर मजा आया। चुनाव के समय ऐसी क्रिएटिविटी सच में आनंद देता है। मोदी ने इसके बाद हंसी वाले इमोजी भी पोस्ट किए। ये खबर भी पढ़ें… अमित शाह फेक वीडियो केस में कांग्रेस सदस्य गिरफ्तार, पुलिस बोली- अरुण रेड्डी ने फोन से सबूत डिलीट किए दिल्ली पुलिस ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के फेक वीडियो मामले में कांग्रेस के एक सदस्य को गिरफ्तार किया। आरोपी की पहचान अरुण रेड्डी के रूप में की गई। वह तेलंगाना में कांग्रेस के सोशल मीडिया विंग का नेशनल कोऑर्डिनेटर है। पूरी खबर पढ़ें… राहुल ने सफेद टी-शर्ट पहनने का कारण बताया:बोले- मुझे सिंपल कपड़े पसंद, ये रंग ट्रांसपेरेंसी और सिम्पलिसिटी दर्शाता है कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने हर वक्त सफेद रंग की टी-शर्ट पहनने का कारण बताया है। राहुल ने कहा, "सफेद ट्रांसपेरेंसी और सिम्प्लिसिटी दर्शाता है। मैं कपड़ों के बारे में ज्यादा परवाह नहीं करता। मुझे सिंपल कपड़े पहनना पसंद हैं।" पूरी खबर पढ़ें…

केजरीवाल की जमानत पर बिना आदेश दिए उठी SC बेंच:शर्त रखी- सीएम सरकारी काम में दखल नहीं देंगे; अगले हफ्ते तक फिर सुनवाई

दिल्ली शराब नीति मामले में मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर फैसला सुनाए बिना सुप्रीम कोर्ट की बेंच उठ गई। सुबह साढ़े 10 बजे सुनवाई शुरू होने के बाद लंच से पहले तक कोर्ट ने जमानत की शर्तें तय कर ली थीं। हालांकि तब ED ने कहा कि केजरीवाल के वकील को Three दिन सुना गया। हमें भी पर्याप्त समय दिया जाए। अदालत ने जमानत का विरोध कर रही ED से कहा कि चुनाव चल रहे हैं और केजरीवाल मौजूदा मुख्यमंत्री हैं। चुनाव 5 साल में सिर्फ एक बार आते हैं। अदालत ने केजरीवाल से कहा कि हम आपको जमानत दे देते हैं तो आप ऑफिशियल ड्यूटी नहीं करेंगे। हम नहीं चाहते कि आप सरकार में दखलअंदाजी करें। अगर चुनाव नहीं होते तो अंतरिम जमानत का सवाल ही नहीं उठता था। केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा- हम किसी फाइल पर साइन नहीं करेंगे। शर्त है कि LG किसी भी काम को इस आधार पर ना रोकें कि फाइल पर साइन नहीं है। ऐसा कुछ नहीं बोलूंगा, जो नुकसान पहुंचाने वाला हो। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने इसका विरोध करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री और आम आदमी में फर्क किया जाना सही नहीं है। राजनेताओं के लिए अलग कैटेगरी ना बनाएं। जनता के बीच गलत संदेश जाएगा। लंच के बाद जस्टिस खन्ना ने कहा- फिलहाल हम देखते हैं कि दलीलें खत्म होती हैं या नहीं। कल इस बेंच के जज अलग-अलग कॉम्बिनेशन में दूसरे केसों की सुनवाई करेंगे। अगर समय रहते सुनवाई खत्म हो जाती हैं, तो कल ही केजरीवाल के मामले में बेंच बैठेगी। अगर नहीं तो परसों (9 मई) की डेट देंगे। अगर संभव नहीं हुआ तो अगले हफ्ते की तारीख देंगे। उधर, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने भी केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 20 मई तक बढ़ा दी है। कोर्ट ने 23 अप्रैल को अरविंद केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 7 मई तक बढ़ाई थी। 21 मार्च को केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद 22 मार्च को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेशी हुई, जहां से उन्हें 28 मार्च तक ED की रिमांड पर भेजा गया। 1 अप्रैल से वे तिहाड़ जेल में हैं। कोर्ट का कमेंट और SG की दलील… केजरीवाल की जमानत पर कोर्ट के Four कमेंट
1. जस्टिस संजीव खन्ना और जस्टिस दीपांकर दत्ता ने कहा- केजरीवाल कोई आदतन अपराधी नहीं हैं।
2. यह एक अभूतपूर्व परिस्थिति है। लोकसभा चुनाव जारी हैं। वो दिल्ली के चुने हुए मुख्यमंत्री हैं।
3. अगर चुनाव नहीं चल रहे होते तो अंतरिम जमानत का सवाल ही नहीं उठता था।
4. चुनाव 5 साल में सिर्फ एक बार होते हैं। जमानत के लिए सुप्रीम कोर्ट की शर्त
सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अगर जमानत दी जाती है तो केजरीवाल सरकारी काम में दखल नहीं देंगे। वो अपने आधिकारिक कार्य नहीं करेंगे। ऐसा हुआ तो हितों का टकराव पैदा होगा और हम यह नहीं चाहते। जमानत के विरोध में ED की दलीलें
1. कोर्ट का नजरिया क्या है? आपको राजनेताओं के लिए अलग कैटेगरी नहीं बनानी चाहिए।
2. देश में इस वक्त 5 हजार केस हैं जिनमें सांसद शामिल हैं। इन सभी को जमानत पर रिहा कर दिया जाना चाहिए?
3. अगर कोई किसान जिसका बुवाई का सीजन चल रहा है, वो किसी सांसद से कम महत्वपूर्ण है?
4. जमानत पर रिहाई दी तो यह संदेश जाएगा कि केजरीवाल ने कुछ नहीं किया था, लेकिन उन्हें चुनाव से पहले गिरफ्तार कर लिया गया।
5. अगर उन्होंने सहयोग किया होता और 9 समन नजरअंदाज ना किए होते तो शायद गिरफ्तारी ना होती। अरविंद केजरीवाल ने शर्त मानी
केजरीवाल ने कहा- हम किसी फाइल पर साइन नहीं करेंगे। शर्त है कि LG किसी भी काम को इस आधार पर ना रोकें कि फाइल पर साइन नहीं है। ऐसा कुछ नहीं बोलूंगा, जो नुकसान पहुंचाने वाला हो। Three मई की सुनवाई में कोर्ट रूम में क्या हुआ था… इससे पहले Three मई को हुई सुनवाई में दो घंटे की लंबी बहस के बाद बेंच ने कहा था कि मेन केस यानी जिसमें केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी और रिमांड को चुनौती दी है, इसमें समय लग सकता है। लोकसभा चुनाव को देखते हुए केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर विचार किया जा सकता है, ताकि वे कैंपेन में हिस्सा ले सकें। 30 अप्रैल की सुनवाई: सुप्रीम कोर्ट ने ED से 5 सवाल पूछे 29 अप्रैल की सुनवाई: केजरीवाल की तरफ से दी गईं दलीलें सुप्रीम कोर्ट ने पूछा- आपको ED ने जो नोटिस भेजे, आपने उन्हें नजर अंदाज क्यों किया। आप गिरफ्तारी और रिमांड के खिलाफ यहां आए, आपने जमानत के लिए ट्रायल कोर्ट क्यों नहीं गए। इस पर केजरीवाल के वकील सिंघवी ने कहा था कि गिरफ्तारी अवैध है इसलिए। ED के वकील एसवी राजू ने कहा कि इन्होंने पिछली कस्टडी का भी विरोध नहीं किया था। 15 अप्रैल: सुप्रीम कोर्ट ने ED को नोटिस देकर गिरफ्तारी पर जवाब मांगा केजरीवाल 21 मार्च को अरेस्ट हुए, 1 अप्रैल से तिहाड़ में बंद
ED ने शराब नीति केस में केजरीवाल को 21 मार्च को अरेस्ट किया था। ED ने 22 मार्च को उन्हें राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने दिल्ली सीएम को 28 मार्च तक ED रिमांड पर भेजा, जो बाद में 1 अप्रैल तक बढ़ाई गई। कोर्ट ने 1 अप्रैल को उन्हें 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल भेज दिया था।​​​​​​ शराब नीति केस में केजरीवाल को इस साल 27 फरवरी, 26 फरवरी, 22 फरवरी, 2 फरवरी, 17 जनवरी, Three जनवरी और 2023 में 21 दिसंबर और 2 नवंबर को समन भेज गया था। हालांकि, वे एक बार भी पूछताछ के लिए नहीं गए। निचली अदालत और हाईकोर्ट से राहत नहीं मिलने पर केजरीवाल सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। 9 अप्रैल को हाईकोर्ट ने कहा- अरेस्ट सही, ED ने पर्याप्त सबूत दिए
दिल्ली हाईकोर्ट ने 9 अप्रैल को कहा था कि ED ने हमारे सामने पर्याप्त सबूत पेश किए। हमने बयानों को देखा, जो बताते हैं कि गोवा के चुनाव के लिए पैसा भेजा गया था। हाईकोर्ट ने ये भी कहा कि हमें संवैधानिक नैतिकता की फिक्र है, ना कि राजनीतिक नैतिकता की। मौजूदा केस केंद्र और केजरीवाल के बीच नहीं है। यह केस केजरीवाल और ED के बीच है। हाईकोर्ट ने कहा कि ED ने कानूनी प्रक्रिया का पालन किया। उसके पास हवाला ऑपरेटर्स और AAP कैंडिडेट के बयान हैं। सिसोदिया इसी मामले में जेल में, संजय सिंह जमानत पर
केजरीवाल से पहले शराब नीति केस में AAP नेता मनीष सिसोदिया और संजय सिंह की भी गिरफ्तारी हुई थी। सिसोदिया 26 फरवरी 2023 से जेल में बंद हैं। संजय सिंह को ED ने Four अक्टूबर 2023 को गिरफ्तार किया था। 2 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने संजय सिंह को जमानत दे दी थी। तिहाड़ में 6 महीने रहने के बाद Three अप्रैल को वो बाहर आए थे।

27 हफ्ते की प्रेग्नेंट महिला को अबॉर्शन की इजाजत नहीं:अविवाहित महिला ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा था – बदनामी से करियर पर फर्क पड़ेगा

दिल्ली हाईकोर्ट ने मंगलवार (7 मई) को 20 साल की अविवाहित महिला की अबॉर्शन की मांग वाली याचिका को खारिज कर दिया। महिला ने 27 हफ्ते की प्रेग्नेंसी में अबॉर्शन की इजाजत मांगी थी। हालांकि, कोर्ट ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में भ्रूण बिल्कुल स्वस्थ पाया गया है। प्रेग्नेंसी जारी रखने में मां और बच्चे को कोई खतरा नहीं है। ऐसे में अबॉर्शन कराना न तो नैतिकता के आधार पर ठीक होगा और न ही कानूनी रूप से स्वीकार्य होगा। महिला ने कोर्ट में दलील दी थी कि वह अभी स्टूडेंट है और नीट की परीक्षा की तैयारी कर रही है। उसे 16 अप्रैल को अपनी प्रेग्नेंसी के बारे में पता चला था। तब 27 हफ्ते बीत चुके थे। महिला ने कहा- मेरी अभी शादी नहीं हुई है। मेरी इनकम का भी कोई सोर्स नहीं है। प्रेग्नेंसी जारी रखने से मेरी बदनामी होगी। इससे मेरे करियर पर फर्क पड़ेगा। कोर्ट ने कहा- बच्चे को एडॉप्शन के लिए देने के लिए आप स्वतंत्र
दिल्ली हाईकोर्ट ने महिला से कहा कि डिलीवरी के लिए आप AIIMS जा सकती हैं। वहां आपको प्रेग्नेंसी जारी रखने को लेकर डॉक्टरों के अहम सुझाव भी मिलेंगे। डिलीवरी के बाद अगर आप बच्चे को एडॉप्शन के लिए देना चाहती हैं तो हमें कोई दिक्कत नहीं है। एडॉप्शन जल्द से जल्द और बिना किसी दिक्कत के हो, यह केंद्र सरकार सुनिश्चित करेगी। प्रेग्नेंसी अबॉर्शन का नियम क्या कहता है?
मेडिकल टर्मिनेशन ऑफ प्रेग्नेंसी (MTP) एक्ट के तहत, किसी भी शादीशुदा महिला, रेप विक्टिम, दिव्यांग महिला और नाबालिग लड़की को 24 हफ्ते तक की प्रेग्नेंसी अबॉर्ट करने की इजाजत दी जाती है। 24 हफ्ते से ज्यादा की प्रेग्नेंसी होने पर मेडिकल बोर्ड की सलाह पर कोर्ट से अबॉर्शन की इजाजत लेनी पड़ती है। MTP एक्ट में बदलाव साल 2020 में किया गया था। उससे पहले 1971 में बना कानून लागू होता था। ये खबरें भी पढ़ें… सुप्रीम कोर्ट ने 30 हफ्ते की प्रेग्नेंसी में अबॉर्शन की इजाजत दी
सुप्रीम कोर्ट ने 14 साल की रेप विक्टिम को करीब 30 हफ्ते की प्रेग्नेंसी में अबॉर्शन कराने की इजाजत दी। सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई के लोकमान्य तिलक अस्पताल को तत्काल अबॉर्शन के लिए इंतजाम करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने आदेश सुनाते हुए कहा- यह असाधारण मामला है। हर घंटा विक्टिम के लिए अहम है। पूरी खबर पढ़ें… दिल्ली हाईकोर्ट ने 29 हफ्ते की प्रेग्नेंट विधवा को अबॉर्शन की इजाजत दी, सुप्रीम कोर्ट ने फैसला पलटा
5 जनवरी 2024 को दिल्ली हाईकोर्ट ने मानसिक बीमारी से जूझ रही 29 हफ्ते की प्रेग्नेंट विधवा को अबॉर्शन की इजाजत दी थी। कोर्ट ने कहा- प्रेग्नेंसी जारी रखने से महिला की मेंटल हेल्थ पर बुरा असर पड़ सकता है। रिप्रोडक्शन चॉइस राइट में बच्चे को जन्म न देने का अधिकार भी शामिल है। पूरी खबर पढ़ें…

मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ:फेज-Three में 68% वोटिंग; मोदी बोले- 400 सीटें चाहिए ताकि कांग्रेस राम मंदिर पर ‘बाबरी ताला’ न लगा दे; केजरीवाल को जमानत नहीं

नमस्कार, कल की बड़ी खबर लोकसभा चुनाव के तीसरे फेज में हुई वोटिंग की रही। एक खबर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी बयानों से जुड़ी रही। लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर… अब कल की बड़ी खबरें… 1. फेज-Three में 11 राज्यों की 93 सीटों पर 68% वोटिंग, बंगाल में BJP-TMC कार्यकर्ताओं में झड़प तीसरे फेज में 11 राज्यों की 93 सीटों पर 67.93% वोटिंग हुई। सबसे ज्यादा 81.71% वोट असम में, जबकि उत्तर प्रदेश में सबसे कम 57.34% वोटिंग हुई। पश्चिम बंगाल में मुर्शिदाबाद के भाजपा कैंडिडेट और TMC समर्थकों के बीच झड़प हुई है। बिहार में वोटिंग के दौरान एक चुनाव अधिकारी और होमगार्ड जवान की हार्ट अटैक से मौत हो गई। वहीं छत्तीसगढ़ के जशपुर में वोट देने पहुंचे बुजुर्ग वोटर की भी मौत हो गई। 2019 में इन 93 सीटों का परिणाम: 2019 में इन 93 सीटों में से 75 सीटें NDA और 11 सीटें विपक्षी दलों ने जीती थीं। Four सीटों पर अविभाजित शिवसेना और Three सीटों पर अन्य पार्टियों को जीत मिली थी। 2019 के लोकसभा चुनाव के थर्ड फेज में 116 सीटों के लिए 68.40% वोटिंग हुई थी। नतीजे Four जून को: लोकसभा की 543 सीटों के लिए 7 फेज में चुनाव हो रहे हैं। पहले पहले फेज में 102 सीटों पर 66.14% और दूसरे फेज में 88 सीटों पर 66.71% वोटिंग हुई थी। अब 13 मई, 20 मई, 25 मई और एक जून को मतदान होगा। रिजल्ट Four जून को आएंगे।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 2. PM बोले- मोदी को 400 सीटें चाहिए ताकि कांग्रेस राम मंदिर पर बाबरी ताला न लगा दे PM मोदी ने मध्य प्रदेश के धार, खरगोन और गुजरात के अहमदनगर में चुनावी सभाएं की। उन्होंने धार में कहा, 'मोदी को 400 सीटें चाहिए, ताकि मैं कांग्रेस और इंडी गठबंधन की हर साजिश को रोक सकूं। मुझे 400 सीटें चाहिए, ताकि कांग्रेस कश्मीर में धारा 370 को फिर से वापस लाकर चिपका न दे। मोदी को 400 सीटें चाहिए, ताकि कांग्रेस अयोध्या में राम मंदिर पर बाबरी ताला न लगा दे।' मोदी बोले- इंडी गठबंधन SC-ST, OBC आरक्षण छीनना चाहता है: मोदी ने धार में कहा, 'कांग्रेस के एक सहयोगी दल ने INDI गठबंधन के इरादों की पुष्टि कर दी है। उनके एक नेता चारा घोटाले में कोर्ट से सजा पा चुके हैं, अभी जमानत पर बाहर हैं। उन्होंने कहा कि मुसलमानों को पूर्ण आरक्षण मिलना चाहिए। इसका अर्थ क्या है? ये लोग SC-ST, OBC समुदाय से पूरा आरक्षण छीनकर मुसलमानों को देना चाहते हैं।' लालू ने क्या कहा था: लालू ने पटना में पत्रकारों से कहा कि मुस्लिमों को आरक्षण मिलना चाहिए। हालांकि इस बयान पर विवाद बढ़ा तो सफाई भी दी। उन्होंने कहा, 'मंडल कमीशन मैंने लागू किया था। आरक्षण सामाजिक आधार पर होता है, धर्म के आधार पर नहीं।'
पूरी खबर यहां पढ़ें… 3. केजरीवाल की जमानत पर फैसला नहीं, शर्त रखी- CM सरकारी काम में दखल नहीं देंगे
दिल्ली शराब नीति मामले में अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर फैसला सुनाए बिना सुप्रीम कोर्ट की बेंच उठ गई। अदालत ने केजरीवाल से कहा, 'अगर हम आपको जमानत देते हैं, तो आप ऑफिशियल ड्यूटी नहीं करेंगे। हम नहीं चाहते कि आप सरकार में दखलअंदाजी करें। अगर चुनाव नहीं होते तो अंतरिम जमानत का सवाल ही नहीं उठता था।' केजरीवाल ने चुनाव प्रचार के लिए अंतरिम जमानत मांगी है। आज फिर सुनवाई संभव: आज फिर मामले की सुनवाई हो सकती है। अदालत ने कहा कि सुनवाई नहीं हो पाती है तो 9 मई की डेट देंगे। वह भी संभव नहीं हुआ तो अगले हफ्ते की तारीख देंगे। उधर, दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने भी केजरीवाल की न्यायिक हिरासत 20 मई तक बढ़ा दी है। उन्हें 21 मार्च को गिरफ्तार किया गया था, वह 1 अप्रैल से तिहाड़ जेल में हैं।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 4. हरियाणा सरकार से Three निर्दलीय विधायकों ने समर्थन वापस लिया, सरकार अल्पमत में हरियाणा में लोकसभा चुनाव के बीच Three निर्दलीय विधायकों ने राज्य की सैनी सरकार से समर्थन वापस ले लिया। तीनों ने पूर्व CM भूपेंद्र हुड्‌डा की मौजूदगी में कांग्रेस के समर्थन का ऐलान किया। मार्च में भाजपा-जजपा गठबंधन टूटने के बाद पार्टी ने इन निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाई थी। तीनों विधायकों के समर्थन वापस लेने के बाद सरकार अल्पमत में आ गई है। लेकिन सरकार पर संकट नहीं: भाजपा के पास 88 में से 43 विधायकों का समर्थन बचा है। बहुमत के लिए 45 विधायक चाहिए। तीनों विधायकों के कांग्रेस को समर्थन देने के बाद विपक्ष के पास 45 विधायक हो गए हैं। इसके बावजूद सैनी सरकार को खतरा नहीं है। नायब सैनी ने इसी साल 12 मार्च को CM पद की शपथ ली थी और 13 मार्च को फ्लोर टेस्ट पास किया था। दो फ्लोर टेस्ट के बीच 6 महीने का गैप होना जरूरी है। ऐसे में विपक्ष 13 सितंबर 2024 तक अविश्वास प्रस्ताव नहीं ला सकता है। इसी साल अक्टूबर-नवंबर में हरियाणा में चुनाव होने हैं।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 5. कश्मीर के कुलगाम में 2 आतंकी ढेर, इनमें 10 लाख का इनामी लश्कर कमांडर भी शामिल जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने 2 आतंकियों को मार गिराया। मारा गया पहला आतंकी लश्कर का टॉप कमांडर बासित डार है। उस पर 10 लाख रुपए का इनाम था। दूसरे आतंकी का नाम फहीम अहमद है। वह ओवर ग्राउंड वर्कर था, जो आतंकियों की मदद करता था। सरेंडर का मौका भी मिला था: पुलिस ने बताया कि आतंकियों को सरेंडर करने का मौका दिया गया था, लेकिन उन्होंने फायरिंग जारी रखी। एनकाउंटर के दौरान सुरक्षाबलों ने उस घर में ब्लास्ट किया, जहां आतंकी छिपे थे। इससे घर में आग लग गई। दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 6. प. बंगाल में 25 हजार शिक्षकों की नियुक्तियां रद्द करने पर रोक, SC बोला- CBI जांच जारी रखे
सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल में 25 हजार शिक्षकों की भर्ती रद्द करने के कलकत्ता हाईकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी। कोर्ट ने CBI को जांच जारी रखने का आदेश देते हुए कहा कि इस दौरान कर्मचारियों पर कोई एक्शन न लिया जाए। अदालत ने सुनवाई के दौरान राज्य सरकार से कहा कि यह सिस्टमेटिक फ्रॉड है। इससे लोगों का भरोसा उठ जाएगा। भर्ती में घूस लेने का आरोप: कलकत्ता हाईकोर्ट ने 22 अप्रैल को 25 हजार 753 शिक्षकों की नियुक्तियां रद्द कर दी थी। साथ ही 7-Eight साल के दौरान मिली सैलरी 12% ब्याज के साथ लौटाने के निर्देश भी दिए थे। इस भर्ती में 2 से 15 लाख रुपए तक की घूस लेने का आरोप है। हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ ममता सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंची थी। क्या है पूरा मामला: 2014 में शिक्षक भर्ती का नोटिफिकेशन आया, इसकी प्रक्रिया 2016 में पूरी हुई। तब पार्थ चटर्जी राज्य के शिक्षा मंत्री थे। आरोप लगा कि जिन उम्मीदवारों के नंबर कम थे, उन्हें मेरिट लिस्ट में ऊपर स्थान मिला। हाईकोर्ट ने 2016 में जांच के आदेश दिए। ED ने शिक्षक भर्ती घोटाले में 23 जुलाई 2022 को पार्थ चटर्जी और उनकी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी के ठिकानों पर रेड की। अर्पिता के फ्लैट से 21 करोड़ रुपए कैश, 60 लाख की विदेशी करेंसी, 20 फोन और अन्य दस्तावेज मिले। 24 जुलाई को ED ने अर्पिता और पार्थ को गिरफ्तार कर लिया।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 7. व्लादिमीर ​​​​​​पुतिन 5वीं बार रूस के राष्ट्रपति बने, कहा- दुश्मनों से भी रिश्ते सुधारेंगे व्लादिमीर पुतिन 5वीं बार रूस के राष्ट्रपति बने हैं। उन्होंने 33 शब्दों में शपथ ली, इसके बाद कहा, ‘हम और मजबूत होंगे। उन देशों के साथ अपने रिश्ते मजबूत करेंगे जो हमें दुश्मन समझते हैं।’ 15 से 17 मार्च को हुए चुनाव में पुतिन को 88% वोट मिले थे। वहीं उनके विरोधी निकोले खारितोनोव को सिर्फ 4% वोट मिले थे। पश्चिमी देशों ने बहिष्कार किया: पुतिन के शपथ ग्रहण समारोह का अमेरिका, ब्रिटेन और कई यूरोपीय देशों ने बहिष्कार किया। हालांकि, भारत के राजदूत विनय कुमार कार्यक्रम में मौजूद रहे। पुतिन ने साल 2000 में पहली बार राष्ट्रपति पद की शपथ ली थी। इसके बाद से 2004, 2012 और 2018 में भी वे राष्ट्रपति बन चुके हैं।
पूरी खबर यहां पढ़ें… 8. IPL 2024: दिल्ली ने राजस्थान को 20 रन से हराया, RR के प्लेऑफ का इंतजार बढ़ा दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने IPL-2024 के 56वें मैच में राजस्थान रॉयल्स (RR) को 20 रन से हरा दिया। कैपिटल्स ने रॉयल्स के प्लेऑफ में पहुंचाने का इंतजार बढ़ा दिया है और अपनी उम्मीदें कायम रखी हैं। RR को प्लेऑफ में पहुंचने के लिए अब भी एक और जीत की जरूरत है। DC ने पहले बैटिंग करते हुए 20 ओवर में 7 विकेट पर 221 रन बनाए। जवाब में राजस्थान 20 ओवर में Eight विकेट पर 201 रन ही बना सकी। मैच के हाईलाइट्स: DC के ओपनर जैक फ्रेजर-मैगर्क (50 रन) और अभिषेक पोरेल (65 रन) ने अर्धशतक जमाए। ट्रिस्टन स्टब्स ने 41 रन बनाए। राजस्थान से रविचंद्रन अश्विन ने Three विकेट लिए। युजवेंद्र चहल, संदीप शर्मा और ट्रेंट बोल्ट को एक-एक विकेट मिला। RR से संजू सैमसन ने 46 बॉल पर 86 रन की पारी खेली। रियान पराग ने 27 और शिवम दुबे ने 25 रन बनाए। खलील अहमद, मुकेश कुमार और कुलदीप यादव ने दो-दो विकेट लिए।
पूरी खबर यहां पढ़ें… आज का कार्टून By मंसूर नकवी… कुछ अहम खबरें हेडलाइन में… अब खबर हटके… गुजरात के गिर में अनोखा पोलिंग स्टेशन, 100% वोटिंग हुई गुजरात के गिर स्थित बनेज इलाके में 100% वोटिंग हुई। यह इलाका गिर-सोमनाथ जिला मुख्यालय से 25 किमी दूर घने जंगल में है। यहां सिर्फ एक ही वोटर हैं। इनका नाम स्वामी हरिदास उदासीन है। हरिदास ने बताया कि सिर्फ उनका वोट लेने के लिए 10 लोगों की टीम आई थी। भास्कर की एक्सक्लूसिव स्टोरीज, जो सबसे ज्यादा पढ़ी गईं… इन करेंट अफेयर्स के बारे में विस्तार से पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें… आपका दिन शुभ हो, पढ़ते रहिए दैनिक भास्कर ऐप… मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ को और बेहतर बनाने के लिए हमें आपका फीडबैक चाहिए। इसके लिए यहां क्लिक करें…

11 राज्यों की 93 सीटों पर 68% वोटिंग:असम में सबसे ज्यादा 81.71% मतदान; बंगाल में BJP-TMC कार्यकर्ताओं में झड़प

10 राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 93 लोकसभा सीटों पर मंगलवार (7 मई) को 67.93% वोटिंग हुई। ये आंकड़े बुधवार सुबह 5 बजे तक के हैं। इनमें इजाफा हो सकता है। 2019 के लोकसभा चुनाव के थर्ड फेज में 116 सीटों के लिए 68.40% वोटिंग हुई थी। चुनाव आयोग के वोटर टर्नआउट ऐप के मुताबिक, 'असम में सबसे ज्यादा 81.71% वोट डाले गए। जबकि, उत्तर प्रदेश में सबसे कम 57% लोगों ने मतदान किया।' वहीं, पश्चिम बंगाल में मुर्शिदाबाद के भाजपा कैंडिडेट और TMC समर्थक के बीच झड़प हुई है। UP के संभल में पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज किया। इसमें कुछ लोग घायल हो गए। बिहार में वोटिंग के दौरान पीठासीन अधिकारी और होमगार्ड जवान की मौत हो गई है। छत्तीसगढ़ के जशपुर में मतदान करने पहुंचे एक बुजुर्ग वोटर की मौत हो गई। PM ने अहमदाबाद में वोट डाला
PM नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद स्थित निशान हायर सेकेंडरी स्कूल में वोट डाला। उनके साथ गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद थे। PM सफेद कुर्ता-पायजामा और भगवा जैकेट पहने हुए थे। वहीं अमित शाह सफेद कुर्ता-पायजामा के साथ भगवा रंग का गमछा लिए हुए थे। पहले फेज में 66.14% और दूसरे में 66.71% वोटिंग हुई थी
लोकसभा चुनाव 7 फेज में हो रहे हैं। पहले पहले फेज में 66.14% और दूसरे फेज में 66.71% वोटिंग हुई थी। अब 13 मई, 20 मई, 25 मई और एक जून को मतदान होगा। रिजल्ट four जून को आएंगे। राज्यवार चुनाव का अपडेट जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें… उत्तर प्रदेश की 10 लोकसभा सीटों पर वोटिंग… मध्य प्रदेश की 9 लोकसभा सीटों पर वोटिंग… छत्तीसगढ़ की 7 लोकसभा सीटों पर वोटिंग… बिहार की 5 लोकसभा सीटों पर वोटिंग… वोटिंग के दिनभर के अपडेट्स सिलसिलेवार तरीके से पढ़िए…

आवारा कुत्तों के मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज:याचिकाकर्ताओं ने कहा था- नए नियमों के मुताबिक इन्हें कंट्रोल करने की इजाजत मिले

आवारा कुत्तों के मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी। 24 अप्रैल को पिछली सुनवाई में कोर्ट ने कहा था कि पक्षकारों को पशु जन्म नियंत्रण नियम 2023 पढ़ना चाहिए। इन्हें अच्छी तरह से समझने के बाद ही इस मामले की जड़ तक पहुंचा जा सकता है। अगर 2023 के नियम समस्या का समाधान कर सकते हैं तो नगर निगम के अधिकारी इन्हीं के मुताबिक जांच करने के लिए कहा जा सकता है। इस दौरान एक वकील ने कहा कि पीठ द्वारा इन नियमों को पढ़ने के लिए कुछ समय दिया जा सकता है और इसके अध्ययन के बाद हम कोर्ट में वापस जाएंगे। दरअसल, कुछ गैर-सरकारी संगठनों (NGOs), स्वतंत्र याचिकाकर्ताओं ने बॉम्बे और केरल हाईकोर्ट के फैसलों के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। इन्होंने अपनी याचिका में कहा था कि नगर निगम के अधिकारियों को नियम के मुताबिक, आवारा कुत्तों के आतंक से निपटने के लिए अनुमति देनी चाहिए। जस्टिस जेके माहेश्वरी और जस्टिस संजय करोल की बेंच इस मामले में सुनवाई कर रही है। सुप्रीम के सामने four हाईकोर्ट के अलग-अलग फैसले
बॉम्बे, केरल, कर्नाटक और हिमाचल प्रदेश हाईकोर्ट के पांच फैसले सुप्रीम कोर्ट के सामने हैं। केरल हाईकोर्ट ने एनिमल बर्थ कंट्रोल (ABC) 2023 के नियमों को बरकरार रखा। उन्होंने माना कि आवारा कुत्तों को मारने के लिए नगर निगम को ABC नियमों का पालन करना चाहिए। आवारा कुत्तों को मारने के लिए नगर निगम अधिकारियों को बेलगाम शक्तियां नहीं दी जा सकतीं। दूसरी ओर बॉम्बे, कर्नाटक और हिमाचल हाईकोर्ट ने माना कि स्थानीय अधिकारियों के पास आवारा कुत्तों को मारने की शक्तियां हैं और वे ABC नियमों के अधीन नहीं हैं। जानिए ABC 2023 नियम क्या हैं?
केंद्र सरकार ने साल 2023 में एनिमल बर्थ कंट्रोल (ABC) यानी पशु जन्म नियंत्रण को लेकर नए नियम जारी किए। इन नियमों ने पशु जन्म नियंत्रण 2001 का स्थान लिया है। ABC का मकसद कार्यक्रमों के जरिए आवारा डॉग्स की नसबंदी और टीकाकरण के लिए दिशा-निर्देश प्रदान करना है। इसकी जिम्मेदारी संबंधितनगर पालिकाओं, नगर निगमों और पंचायतों की है। नगर निगमों को ABC और एंटी रेबीज प्रोग्राम को संयुक्त रूप से लागू करने की जरूरत है। ABC के नियम कहते हैं कि आवारा कुत्तों को एक जगह से दूसरे जगह ट्रांसफर नहीं किया जा सकता है। उनके साथ क्रूरता नहीं होनी चाहिए, बल्कि उनकी देखभाल करनी चाहिए। 23 डॉग ब्रीड्स पर बैन लगाने के लिए केंद्र का राज्यों को निर्देश
केंद्र सरकार ने इसी साल मार्च में राज्यों से कहा है कि डॉग्स की 23 ब्रीड के इम्पोर्ट पर बैन लगा दिया जाए। केंद्र ने कुत्तों के हमले में इंसानी मौतों के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्यों से कहा है कि वे इन 23 ब्रीड के डॉग्स का ना सिर्फ इम्पोर्ट रोकें, बल्कि इनकी ब्रीडिंग और बिक्री पर भी रोक लगाएं। 23 डॉग ब्रीड की लिस्ट में रॉटविलर और पिटबुल भी शामिल हैं। हाल ही में इंसानों पर डॉग अटैक्स के केस में इन ब्रीड्स के डॉग का नाम आया है। केंद्र सरकार ने स्पष्ट किया है कि इन डॉग्स की मिक्स ब्रीड्स और क्रॉस ब्रीड्स पर बैन लगाया जाए। एनिमल वेलफेयर बॉडीज और एक्सपर्ट्स की एक कमेटी ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक रिपोर्ट सब्मिट की है। जिसके बाद केंद्र सरकार ने यह कदम उठाया है। केंद्र ने राज्यों से क्या कहा, three पॉइंट कर्नाटक हाईकोर्ट का 23 डॉग ब्रीड्स पर बैन से इनकार किया
केंद्र सरकार के डॉग्स के 23 ब्रीड्स पर बैन लगाने के सर्कुलर पर कर्नाटक हाईकोर्ट ने 20 मार्च को रोक लगा दी है। जस्टिस एम नागाप्रसन्ना ने कहा कि ये रोक सिर्फ कर्नाटक राज्य के लिए ही मान्य होगी। कोर्ट ने कहा कि डिप्टी सॉलिसिटर जनरल को बताना होगा कि केंद्र सरकार के इस फैसले का क्या आधार था। जब तक वे इसके डॉक्यूमेंट्स पेश नहीं करते, तब तक हम सर्कुलर पर स्टे लगाते हैं। ​​​​​​पिछले कुछ समय में हुए डॉग अटैक्स के मामले… 11 मार्च 2024: उत्तर प्रदेश के अमरोहा में एक पिटबुल ने दो साल के बच्चे पर हमला कर उसे घायल कर दिया। जब पिटबुल ने अटैक किया, तब कुत्ते का मालिक कुत्ते को घुमा रहा था, जिससे बच्चे की जान बच गई। हालांकि, उसके सिर पर जख्म हो गया। अक्टूबर 2023: हरियाणा के हिसार में पिटबुल ने एक युवती पर हमला कर दिया। युवती को पेट, पैर और शरीर के अन्य हिस्सों पर काटा। युवती जमीन पर गिर गई तो पिटबुल ने उसके बाल मुंह में पकड़ कर उसे घसीटा। पड़ोस के लोगों ने मुश्किल से युवती की जान बचाई। जुलाई 2023: हरियाणा के हिसार में एक महिला को पिटबुल ने काट लिया। कुत्ते ने 5 मिनट तक महिला की टांग को अपने जबड़े में जकड़े रखा। 2 व्यक्तियों ने बड़ी मशक्कत के बाद उसे छुड़ाया और कुत्ते को काबू किया। जुलाई 2023: उत्तर प्रदेश के गोंडा में एक गांव में पिटबुल ने अपने मालिक पर ही हमला कर दिया। हमले में मालिक गंभीर रूप से घायल हो गया है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं पता था कि मेरा ही पाला हुआ कुत्ता मेरे ऊपर हमला कर देगा। जनवरी 2023: उत्तर प्रदेश के मेरठ में रॉटविलर डॉग ने पंजाबी एक्टर रोहित (23) के हाथ- पैर में काट लिया। उनके चेहरे, हाथ, पैर पर काफी चोटें भी आई थीं। अमेरिका समेत 41 देशों में बैन है पिटबुल
पिटबुल डॉग अमेरिका, जर्मनी, डेनमार्क, स्पेन, ब्रिटेन, आयरलैंड, रोमानिया, कनाडा, इटली और फ्रांस समेत 41 देशों में बैन है। कई देशों में पिटबुल प्रजाति के कुत्ते को रिहायशी इलाकों में पालने पर भी प्रतिबंध लगाया गया है। एक्सपर्ट के मुताबिक, पिटबुल प्रजाति के कुत्ते किसी व्यक्ति या जानवर को कब्जे में लेने के बाद अपने जबड़ों को लॉक कर लेते हैं। ऐसे में छुड़ा पाना आसान नहीं होता है। ये खबरें भी पढ़ें… गाजियाबाद में कुत्ते के काटने से बच्चे की मौत:अस्पतालों ने लाइलाज बताकर भर्ती नहीं किया; एम्बुलेंस में पिता की गोद में तड़प-तड़पकर दम तोड़ा पिछले साल सितंबर में गाजियाबाद में कुत्ते के काटने से 14 साल के बच्चे की तड़प-तड़पकर मौत हो गई। AIIMS से लेकर तमाम बड़े हॉस्पिटलों ने उसको लाइलाज घोषित कर दिया था। बुलंदशहर में एक वैद्य के यहां दिखाकर लौटते समय बच्चे ने एम्बुलेंस में अपने पिता की गोद में दम तोड़ दिया था। पूरी खबर यहां पढ़ें… खाकी वर्दी वालों को कुत्तों से कटवाने वाला आरोपी पकड़ाया:तमिलनाडु में छिपा था; डॉग ट्रेनिंग की आड़ में कुत्तों को हिंसक बनाया केरल के कोट्टायम में पुलिस 24 सितंबर 2023 की रात एक संदिग्ध ड्रग्स तस्कर के घर छापेमारी के लिए पहुंची थी। जैसे ही पुलिस घर में दाखिल हुई, कई हिंसक कुत्तों ने टीम पर हमला कर दिया। जब तक टीम ने कुत्तों पर काबू पाया, घर में मौजूद लोग फरार हो गए थे। बाद में पता चला कि इन कुत्तों को खाकी रंग के कपड़े पहने हुए लोगों पर हमला करने की ट्रेनिंग दी गई थी, जिससे ड्रग्स माफिया को वहां से भागने का मौका मिल जाए। पूरी खबर यहां पढ़ें…

MP-राजस्थान में तीन दिन हीटवेव का अलर्ट:दिल्ली में तापमान 42 डिग्री पहुंचा; छत्तीसगढ़-झारखंड में बारिश, बिहार में बिजली गिरने से दो मौतें

राजस्थान और मध्य प्रदेश में भीषण गर्मी पड़ रही है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने दोनों राज्यों में आज से अगले दो दिन यानी 10 मई तक हीटवेव का अलर्ट जारी किया है। मंगलवार (7 मई) को राजस्थान के 9 और MP के Three शहरों में तापमान 43 डिग्री या उससे ज्यादा दर्ज किया गया। राजस्थान का बाड़मेर और MP का दामोह देश के सबसे गर्म शहर रहे। यहां का तापमान क्रमशः 45.2 और 44.eight दर्ज किया गया। 10 और 11 मई को वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव होने से दोनों राज्यों में आंधी और बारिश की संभावना है। इससे लू से राहत मिलेगी। 12 मई तक हीटवेव से राहत की उम्मीद है। दिल्ली में मंगलवार को सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। यहां अधिकतम तापमान 42 डिग्री दर्ज किया गया। 11 और 12 मई को हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। उत्तर प्रदेश के पूर्वी जिलों में 13 मई तक गरज-चमक के साथ बारिश होने की संभावना है। छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में बारिश का अलर्ट
दूसरी तरफ, छत्तीसगढ़, बिहार और झारखंड में मौसम ने करवट ली है। तीनों राज्यों में बारिश ने चिलचिलाती धूप और उमस भरी गर्मी से राहत दिलाई है। छत्तीसगढ़ में आज और कल बारिश के आसार हैं। झारखंड में 10 मई तक बूंदाबांदी होगी। मौसम विभाग ने बिहार के सभी जिलों में आज खराब मौसम का यलो अलर्ट जारी किया है। कई जिलों में बारिश, गरज और आकाशीय बिजली के साथ 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। मंगलवार को बिजली गिरने से दो लोगों की मौत हुई थी। तेलंगाना में बारिश के कारण 13 लोगों की मौत
तेलंगाना के कुछ हिस्सों में मंगलवार रात बेमौसम बारिश के बाद अलग-अलग घटनाओं में 13 लोगों की मौत हो गई। हैदराबाद में एक अंडर कंस्ट्रक्शन बिल्डिंग की दीवार गिरने से एक महिला और एक बच्चे सहित सात लोगों की मौत हो गई। दो लोगों के शव नाले मिले। पुलिस के मुताबिक, भारी बारिश के दौरान दोनों गलती से नाले में गिर गए होंगे। अगले तीन दिनों का मौसम का अनुमान 9 मई : बंगाल – पूर्वोत्तर में भारी बारिश का अलर्ट 10 मई – four राज्यों में धूल भरी आंधी चलने की संभावना 11 मई: पंजाब-हरियाणा और राजस्थान में बूंदाबांदी के आसार राज्यों में मौसम की स्थिति… बिहार के बेतिया में तेज आंधी के साथ बारिश: सभी जिलों में अलर्ट, तेज हवा-ओले गिरने की भी संभावना बिहार के बेतिया में बुधवार को तेज आंधी के साथ झमाझम बारिश हुई। प्रदेश के कई जिलों में सुबह से बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग ने आज सभी जिलों में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया है। कई जिलों में बारिश, गरज और बिजली के साथ ही 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। मंगलवार को पश्चिमी चंपारण में 15.2, पूर्वी चंपारण में 18.3, मुजफ्फरपुर में 0.9 और सीतामढ़ी में 1 मिलीमीटर बारिश हुई थी। बारिश के बाद लोगों की गर्मी से राहत मिली है। पूरी खबर पढ़ें… छत्तीसगढ़ में आज और कल बारिश के आसार: रायपुर-बस्तर समेत सभी संभागों में अलर्ट; तापमान 15 डिग्री तक गिरा छत्तीसगढ़ के रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर, सरगुजा और बस्तर संभाग के सभी जिलों में गरज-चमक के साथ आंधी और बूंदाबांदी के आेसार हैं। प्रदेश के सभी संभागों के जिलों में 9 मई को भी गरज-चमक के साथ बारिश का अनुमान है। रायपुर, राजनांदगांव, धमतरी, कांकेर, कोंडागांव , बस्तर और दंतेवाड़ा में मंगलवार को तेज बारिश हुई। जगदलपुर में दिनभर ठंडी हवाएं चलती रहीं। इसके असर से 24 घंटों में तापमान 15 डिग्री तक गिर गया। पूरी खबर पढ़ें… हिमाचल के 14 शहरों का तापमान 30 डिग्री पार: गर्मी से लोग बेहाल, नेरी का पारा 41.7 पहुंचा देश के मैदानी इलाकों के साथ साथ अब हिमाचल के पहाड़ भी गर्मी से तपने लगे हैं। प्रदेश के 26 शहरों में से 14 का पारा 30 डिग्री सेल्सियस पार हो गया है, जबकि ऊना और नेरी का तापमान 40 डिग्री से ज्यादा पहुंच गया है। इससे लोग बेहाल है। मौसम विभाग ने बताया कि गुरुवार से वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव हो रहा है। इससे अगले four दिन तक पूरे प्रदेश में बारिश का पूर्वानुमान है। 10 से 13 मई तक येलो अलर्ट है। इस दौरान कुछ क्षेत्रों में तेज बारिश, आंधी और तूफान चल सकता है। पूरी खबर पढ़ें… राजस्थान का बाड़मेर पूरे देश में सबसे गर्म शहर: तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज, दो दिन बाद मौसम बदलने के आसार राजस्थान के कई जिलों में तापमान लगातार बढ़ रहा है। मंगलवार को बाड़मेर में दिन का अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज हुआ। यह भारत में सबसे ज्यादा तापमान वाला शहर था। इसके अलावा जैसलमेर, गंगानगर, बाड़मेर, फलोदी और जयपुर में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस या उससे ऊपर रहा। राज्य में 10 मई से बारिश या बूंदाबांदी होने की संभावना है। इससे तापमान में 2 से Three डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट हो सकती है। पूरी खबर पढ़ें… इंदौर-मंदसौर में बारिश, 9 जिलों में हीट वेव:कई जिलों में आंधी-ओले और बिजली गिरने का अलर्ट, 2 दिन तक ऐसा ही मौसम रहेगा मध्यप्रदेश में बुधवार को भोपाल समेत 9 शहरों में हीट वेव के अलर्ट के बीच कई जगह बारिश हुई। इंदौर में दोपहर 1:30 बजे पानी गिरने लगा। मंदसौर के खजूरी आंजना गांव में भी करीब 40 मिनट तक तेज बारिश हुई। आगर मालवा जिले में सुबह से बादल छाए रहे। दोपहर बाद तेज हवाओं के साथ पहले हलकी, फिर तेज बारिश हुई। करीब आधा घंटे गिरे पानी से सड़कें डूब गईं। पूरी खबर पढ़ें…

सिसोदिया की जमानत याचिका पर अब 13 मई को सुनवाई:दिल्ली हाईकोर्ट ने ED-CBI को जवाब देने के लिए और four दिन का समय दिया

शराब नीति केस में जेल में बंद दिल्ली के पूर्व डिप्टी CM मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट अब 13 मई को सुनवाई करेगा। ED और CBI के वकीलों ने जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा से कहा कि हमें जवाब दाखिल करने के लिए एक हफ्ते का समय चाहिए। जांच एजेंसी के वकीलों ने कहा कि हमारे जांच अधिकारी व्यस्त हैं। सुप्रीम कोर्ट में इसी मामले में एक अन्य आरोपी के मामले को भी हम देख रहे हैं, इसलिए हमें जवाब दाखिल करने के लिए 7 दिन का समय दीजिए। मनीष सिसोदिया के वकील विवेक जैन से जांच एजेंसी की मांग का विरोध किया। उन्होंने कहा- एजेंसीज डेढ़ साल से अधिक समय से इसकी जांच कर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट के सामने उन्होंने कहा, हम 6 महीने के अंदर ट्रायल खत्म कर देंगे। ट्रायल कोर्ट के समक्ष जमानत याचिका को कई बार स्थगित भी किया गया था। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद जस्टिस स्वर्णकांता शर्मा ने कहा कि मैं आपको (ED) केवल four दिन का समय दे रहा हूं। मैं मामले को सोमवार 13 मई के लिए रख रहा हूं। जमानत याचिका की सुनवाई अब 13 मई को करेंगे। इससे पहले three मई की सुनवाई में कोर्ट ने ED-CBI को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। साथ ही सिसोदिया को बीमार पत्नी सीमा से हफ्ते में एक बार मिलने की परमिशन भी दी थी। मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी 2023 को CBI ने करीब eight घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार किया था। इसके बाद ED ने भी उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया था। वे फिलहाल तिहाड़ जेल में हैं। 7 मई 2024 को सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 15 मई तक बढ़ाई गई है।उधर, दिल्ली कोर्ट ने एक्ससाइज ड्यूटी स्कैम केस में मनीष सिसोदिया की न्यायिक हिरासत 21 मई तक के लिए बढ़ा दी है। पहले भी कई बार खारिज हुई सिसोदिया की जमानत याचिका
CBI ने सिसोदिया को 26 फरवरी, 2023 को गिरफ्तार किया था। ED ने न्यायिक हिरासत के दौरान उन्हें 9 मार्च, 2023 को गिरफ्तार किया था। सिसोदिया तब से तिहाड़ जेल में हैं। उन्होंने ED मामले में राउज एवेन्यू कोर्ट में जमानत याचिका दायर की थी, जिसे 28 अप्रैल, 2023 को खारिज कर दिया गया था। CBI मामले में उनकी जमानत याचिका 31 मार्च, 2023 को खारिज हुई थी। इसके बाद उन्होंने दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। हालांकि, हाई कोर्ट ने ED मामले में उनकी जमानत याचिका को three जुलाई, 2023 और CBI मामले में उनकी जमानत याचिका 30 मई, 2023 को खारिज की थी। सुप्रीम कोर्ट ने 30 अक्टूबर, 2023 सिसोदिया को जमानत देने से इनकार कर दिया था। कोर्ट ने कहा था कि घोटाले से जुड़े कई सवालों के जवाब अभी नहीं मिले हैं। इनमें 338 करोड़ का लेन-देन हुआ है, जिसमें सिसोदिया की भूमिका संदिग्ध लग रही है। इसलिए याचिका खारिज की जाती है। शराब नीति घोटाला केस- केजरीवाल और के. कविता भी हिरासत में
दिल्ली शराब नीति घोटाला केस में अब तक 16 हाई प्रोफाइल लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इसी केस में सिसोदिया के अलावा दिल्ली CM अरविंद केजरीवाल, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और BRS नेता के. कविता भी न्यायिक हिरासत में हैं। AAP नेता संजय सिंह भी इसी मामले में जेल में थे। हालांकि, फिलहाल वे बेल पर बाहर हैं। ये खबर भी पढ़ें … केजरीवाल की जमानत पर बिना आदेश दिए उठी SC बेंच, शर्त रखी- सीएम सरकारी काम में दखल नहीं देंगे दिल्ली शराब नीति मामले में मंगलवार को अरविंद केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर फैसला सुनाए बिना सुप्रीम कोर्ट की बेंच उठ गई। सुबह साढ़े 10 बजे सुनवाई शुरू होने के बाद लंच से पहले तक कोर्ट ने जमानत की शर्तें तय कर ली थीं। हालांकि तब ED ने कहा कि केजरीवाल के वकील को three दिन सुना गया। हमें भी पर्याप्त समय दिया जाए। पूरी खबर पढ़ें …