दिल्ली शराब नीति घोटाला- के कविता की जमानत याचिका खारिज:कोर्ट बोला- राहत देने का यह सही वक्त नहीं; 15 मार्च को गिरफ्तार हुई थीं

فوق المحتوي
تحت المحتوي

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने सोमवार (6 मई) को एक्साइज पॉलिसी केस में CBI और ED के केस में BRS नेता के कविता की जमानत याचिकाएं खारिज कर दीं। स्पेशल जज कावेरी बावेजा ने कहा कि उन्हें राहत देने के लिए यह सही समय नहीं है। इससे पहले 23 अप्रैल की सुनवाई के दौरान कोर्ट ने के. कविता और एक अन्य आरोपी चरनप्रीत की कस्टडी भी 7 मई तक बढ़ाई थी, जो कल खत्म हो रही है। प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने सुनवाई के दौरान यह भी कहा था कि के. कविता के केस में एजेंसी 60 दिन में चार्जशीट फाइल करेगी। ED ने 15 मार्च को हैदराबाद से गिरफ्तार किया था
के. कविता तेलंगाना के पूर्व मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की बेटी हैं। ED ने उन्हें 15 मार्च को हैदराबाद के बंजारा हिल्स स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया था। ED ने 15 मार्च की सुबह 11 बजे उनके घर पर रेड डाली थी। करीब eight घंटे की तलाशी और कार्रवाई के बाद शाम 7 बजे उन्हें हिरासत में लिया गया। उसके बाद अरेस्ट किया गया। एजेंसी उन्हें लेकर दिल्ली आ गई थी। ED का आरोप है कि कविता शराब कारोबारियों के गुट 'साउथ ग्रुप' की प्रमुख सदस्य थीं। साउथ ग्रुप से जुड़े लोगों पर दिल्ली में शराब कारोबार के लाइसेंस के बदले AAP को 100 करोड़ रुपए रिश्वत देने का आरोप है। 16 मार्च को राउज एवेन्यू कोर्ट ने कविता को ED की रिमांड में भेजा था। इसके बाद से उनकी रिमांड बढ़ती जा रही है। फिलहाल, BRS नेता 7 मई तक ज्यूडिशियल कस्टडी में हैं। दिल्ली शराब घोटाले में के कविता का नाम कब आया?
दिल्ली शराब घोटाले केस में ED ने गुरुग्राम से कारोबारी अमित अरोड़ा को 30 नवंबर, 2022 में गिरफ्तार किया था। ED के मुताबिक, अमित ने अपने बयान में के. कविता के नाम लिया था। जांच एजेंसी ने दावा किया था कि कविता ने विजय नायर के माध्यम से दिल्ली में AAP सरकार के नेताओं को 100 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। AAP ने इस पैसे का इस्तेमाल गोवा और पंजाब विधानसभा चुनाव में किया। फरवरी 2023 में CBI ने कविता के अकाउंटेंट बुच्ची बाबू गोरंतला को गिरफ्तार किया। ED ने भी बुच्ची बाबू से पूछताछ की थी। फिर ED ने हैदराबाद के व्यवसायी अरुण रामचंद्रन पिल्लई को 7 मार्च 2023 को गिरफ्तार किया। पिल्लई ने पूछताछ में बताया था कि कविता और आम आदमी पार्टी के बीच एक समझौता हुआ था। इसके तहत 100 करोड़ रुपए का लेन-देन हुआ, जिससे कविता की कंपनी 'इंडोस्पिरिट्स' को दिल्ली के शराब कारोबार में एंट्री मिली। पिल्लई ने ये भी बताया कि एक मीटिंग हुई थी, जिसमें वो, कविता, विजय नायर और दिनेश अरोड़ा मौजूद थे। इस मीटिंग में दी गई रिश्वत की वसूली पर चर्चा हुई थी। साउथ ग्रुप क्या है?
साउथ ग्रुप दक्षिण के राजनेताओं, कारोबारियों और नौकरशाहों का ग्रुप है। इसमें अरबिंदो फार्मा के प्रमोटर शरत रेड्डी, YSRCP के लोकसभा सांसद एम. श्रीनिवासुलु रेड्डी, उनके बेटे राघव मगुंटा और कविता शामिल थे। इस ग्रुप का प्रतिनिधित्व अरुण पिल्लई, अभिषेक बोइनपल्ली और बुच्ची बाबू ने किया था। तीनों को ही शराब घोटाले में गिरफ्तार किए गए हैं। ये खबर भी पढ़ें… सुप्रीम कोर्ट केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर विचार करने को तैयार दिल्ली शराब नीति मामले में अरविंद केजरीवाल से जुड़ी याचिका की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए केजरीवाल की अंतरिम जमानत पर विचार किया जा सकता है, ताकि वे कैंपेन में हिस्सा ले सकें। बेंच ने कहा कि केजरीवाल ने अपनी गिरफ्तारी और रिमांड को चुनौती दी है, इसमें समय लग सकता है। कोर्ट ने ED से कहा- अगली सुनवाई में अंतरिम जमानत की शर्तों को भी बताया जाए। हमे अंतरिम जमानत देने या न देने पर अभी फैसला करना है। हम 7 मई को इस पर सुनवाई करेंगे। पढ़ें पूरी खबर…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *