أخبار العالم

ऑनलाइन शॉपिंग में धड़ल्ले से बिक रहा नकली-पुराना और खराब सामान, कहीं 14000 रु. के जूते निकले नकली; कहीं मोबाइल की जगह निकले साबुन के टुकड़े…मच्छर-मार मशीन से भी नहीं मरा एक भी मच्छर



दिल्ली। अजमेर में रहने वाले प्रकाश डेविड ने फ्लिपकार्ट से सैमसंग कंपनी का मोबाइल मंगवाया था। मोबाइल खराब निकला। एक माह में ही इंटरनेट बंद हो गया। डेविड ने सर्विस सेंटर और कस्टमर केयर पर दर्जनों शिकायतें की। नतीजा सिफर रहा। उपभोक्ता फोरम में मामला दर्ज हुआ, सुनवाई के बाद मोबाइल की कीमत और मानसिक व आर्थिक क्षति दिए जाने के आदेश हुए।

ऑनलाइन वेबसाइट्स परधड़ल्ले से बेचे जा रहे हैंनकली, पुराने और खराब सामान
ऑनलाइन मंगवाए गए सामान में खराबी निकलने का यह इकलौता मामला नहीं है। देशभर में ऐसी शिकायतें आ रही हैं। हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने भी विभिन्न ऑनलाइन विक्रेता कंपनियों को निर्देश दिया कि वे सुनिश्चित करें कि जो सामान बेचा जा रहा है वो बड़ी ब्रैंड का डुप्लीकेट न हो। भास्कर ने इस मामले को जब देशभर में खंगाला तो दर्जनों ऐसे चौंकाने वाले मामले सामने आए। छोटी से लेकर बड़ी ऑनलाइन कंपनियों की वेबसाइट्स तक पर नकली, पुराने और खराब सामान धड़ल्ले से बेचे जा रहे हैं। मुंबई उपभोक्ता फोरम के कार्य अध्यक्ष शिरीष देशपांडे ने कहते हैं कि ऑनलाइन खरीदी में सबकी जिम्मेदारियां तय करना अत्यंत आवश्यक है। अगर कुछ गड़बड़ी हुई तो ऑनलाइन कंपनी सिर्फ ये कहकर हाथ खड़े नहीं कर सकती कि हम तो सिर्फ एग्रीगेटर यानी सुविधा देने वाले हैं।

1. मच्छर मारने की मशीन मंगवाई, एक भी नहीं मरा
हरियाणा के पारस कंबोज ने अक्टूबर में नापतौल साइट से टी-शर्ट मंगवाई लेकिन दूसरी टी-शर्ट आई। रिफंड मांगा तो कहा गया कि दूसरा सामान लेना पड़ेगा। इस पर 600 रु. और देकर दो हजार रु. का मच्छर मारने का यंत्र मंगवाया। उससे एक भी मच्छर नहीं मरा। अब कंज्यूमर फोरम में केस किया है।

2. 14 हजार रुपए के जूते नकली निकले
हिसार के मनिंद्र ने मिंत्रा से एडिडास के 13999 रु. के जूते लिए। लेकिन जूते मिले तो उसपर नकली लोगो लगा था। कंज्यूमर कोर्ट में केस किया तो कंपनी पर पैसे रिफंड करने सहित 2500 रु. का जुर्माना लगाया गया।

3.मोबाइल की जगह निकले साबुन के टुकड़े
मुंबई के वैभव कांबले ने फ्लिपकार्ट से 14 हजार रु. में सैमसंग के 2 मोबाइल ऑर्डर किए। पैकेट में साबुन के टुकड़े निकले। वैभव ने में शिकायत तोे कंपनी ने उन्हें मोबाइल देने का आश्वासन दिया। लेकिन बाद में फोन पर जवाब देने से ही बचने लगे। अब परेशान होकर वैभव ने पुलिस में शिकायत दर्ज की है ।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


thousands of cases against ecommerce websites like flipkart and others for low quality products

Original Article

مقالات ذات صلة

زر الذهاب إلى الأعلى
إغلاق