أخبار العالم

एलटीसी टूर के नाम पर ठगी करने वाले गैंग के दो शातिर को पुलिस ने किया गिरफ्तार




एलटीसी टूर के नाम पर ठगी करने वाले गैंग के 2 शातिरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। यह गैंग कुछ सालों में 350 लोगों को शिकार बना चुका है। आरोपियों की पहचान सैनिक एनक्लेव निवासी अश्विनी सिंह (32) व राजस्थान का हरपत सिंह (26) के रूप में हुई है। डीसीपी मधुर वर्मा ने बताया कि पीड़ित सुरेंद्र के पास मोनिका त्यागी नाम की लड़की ने फोन किया। लड़की ने खुद को आईएनआई टूर एंड ट्रेवल कंपनी का बताया। उन्हें जम्मू एंड कश्मीर एलटीसी टूर पर ले जाने का ऑफर दिया। सुरेंद्र जाने को राजी हो गए। उन्होंने मोनिका को 91 हजार रु. दिए। जब पीड़ित 15 जून 2013 को मोनिका के ऑफिस सीपी गए तो वहां कोई नहीं मिला। पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज किया। इसी दौरान साठ ऐसे सरकारी कर्मचारी और सामने आए जो इस गैंग का शिकार हो चुके थे। 12 जून 2013 में 180 लोग नई दिल्ली से श्रीनगर फ्लाइट से गए थे। जब वापसी की बारी आई तो 16 जून को श्रीनगर एयरपोर्ट पहुंचने पर उन्हें पता लगा कि फ्लाइट पेयमेंट के अभाव में कैंसिल हो चुकी है। ये सभी मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ, दिल्ली हेल्थ डिपार्टमेंट, पुलिस व अन्य विभागों में पोस्टेड थे।
4 लोग चलाते थे गैंग
कनाट प्लेस एसीपी अखिलेश यादव की टीम ने मामले की जांच के दौरान गैंग के बारे में जानकारी जुटाई और 5 दिसंबर को मोहन गार्डन निवासी अश्विनी सिंह को पकड़ लिया। उसे 2 दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ की गई, जिसके बाद हरपत सिंह को गुडगांव से पकड़ा। आरोपी अश्विनी का पुराना रिकॉर्ड है। उसने ग्रेजुएशन की है और ऑनलाइन टूर कंपनी के साथ काम कर रहा था। 4 लोगों के गैंग ने ऑफिस स्टाफ रखा था, जिनका काम सरकारी कर्मचारियों को एलटीसी टूर पैकेज के बारे में जानकारी देने का होता था।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News TodayOriginal Article

مقالات ذات صلة

زر الذهاب إلى الأعلى
إغلاق