أخبار العالم

आयकर रिटर्न भरने वाले 50% बढ़कर 6.08 करोड़ हुए




असेसमेंट इयर 2018-19 में अब तक आयकर रिटर्न भरने वालों की संख्या पिछले साल के मुकाबले 50% बढ़ी है। विभाग को करीब 6.08 लाख करोड़ रिटर्न मिल चुके हैं। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने मंगलवार को सीआईआई के एक कार्यक्रम में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अब तक आयकर विभाग 2.27 करोड़ रिफंड जारी कर चुका है। यह पिछले साल से 50% अधिक है। चार साल में देश में टैक्स का दायरा 80% बढ़ा है।
चंद्रा ने कहा, कंपनी और व्यक्तिगत इनकम टैक्स के कुल कलेक्शन में 16.5% और नेट कलेक्शन में 14.5% बढ़ोतरी हुई है। कॉरपोरेट टैक्स अदा करने वालों की संख्या बढ़कर सात से बढ़कर आठ लाख हो गई है। अभी तक डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन बजट अनुमान का 48% है। उम्मीद है कि राजस्व विभाग इस वित्त वर्ष में इसके 11.5 लाख करोड़ रुपए के लक्ष्य को हासिल कर लेगा। चंद्रा ने कहा कि कॉरपोरेट टैक्स की दरें कम करने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। लेकिन टैक्स कम्प्लायंस अच्छा होना चाहिए। तभी सरकार इस टैक्स की दर में कटौती करने की स्थिति में आ सकेगी।
सीबीडीटी प्रमुख ने कहा- अब तक 2.27 करोड़ रिफंड जारी, यह पिछले साल से 50% ज्यादा
इस साल 70,000 से ज्यादा मामले ऑनलाइन हल किए गए
सीबीडीटी प्रमुख ने करदाताओं और टैक्स अधिकारियों के बीच मानवीय संपर्क कम करने के विभाग के प्रयासों का उल्लेख किया। इस साल अब तक 70,000 से अधिक मामले ऑनलाइन हल किए गए हैं।
आयकर समिति का रेट के बजाय कानून सरल करने पर फोकस
आयकर कानून में संशोधन के सुझाव देने वाली समिति टैक्स रेट में बदलाव करने के बजाय कानून सरल बनाने की कोशिश करेगी। समिति के कन्वीनर अखिलेश रंजन ने यह जानकारी दी। आयकर कानून 57 साल पुराना है। इसमें नए प्रावधान और व्याख्याएं जुड़ती गईं। रंजन के मुताबिक समिति इन्हें सरल बनाने पर फोकस करेगी।
Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News TodayOriginal Article

مقالات ذات صلة

زر الذهاب إلى الأعلى
إغلاق